ब्लॉकचैन कैसे क्रिप्टो करेंसी को इतना मजबूत करंसी बनाती है यह तकनीक कैसे काम करती है

ब्लॉकचेन तकनीक सबसे पहले 1991 में स्टुअर्ट हबर और डब्ल्यू स्कॉट स्टोर्नेटो ने अपनाया था

तकनीक का मुख्य कारण डिजिटल डॉक्यूमेंट्स को टाइमस्टैम्प करना था, ताकि इसके साथ किसी भी तरह की छेड़छाड़ न की जा सके

फिर 2009 में जापान के सतोशी नाकामोतो ने ब्लॉकचैन का इस्तेमाल करके Bitcoin बनाया जो दुनिया में क्रांति ला दी

दुनिया का सबसे जायदा इस्तमाल की जाने वाली करेंसी अमेरिकी डॉलर है लेकिन इसका नियंत्रण एक देश अमेरिका का है वही क्रिप्टो करेंसी..

क्रिप्टो करेंसी का नियंत्रण किसी एक व्यक्ति या किसी एक केंद्रीय शक्ति का नहीं है जिसे ब्लॉकचेन के द्वारा ही संभव है इसलिए इसे भविष्य की करेंसी के तौर पर देखा जा रहा है

अगर आप भी क्रिप्टो या ब्लॉकचेन के बारे में जानना चाहते हैं तो लिंक पर निचे क्लिक करें