Metaverse क्या है? इंटरनेट मे लाएगी क्रांति What is Metaverse in Hindi

Metaverse क्या है?, Metaverse के बारे मे पुरी जानकरी, Metaverse बदल देगी , Metaverse क्या है in hindi, What is Metaverse in hindi, Metaverse Future technology

Metaverse भविष्य की एक ऐसी टेक्नोलॉजी जो हमारी रियल दुनिया और वर्चुअल दुनिया को कनेक्ट करेगी इस फ्यूचरिस्टिक टेक्नोलॉजी के लिए एक Vfx 3D चश्मे का यूज होगा उस चश्मे को पहन के आप Metaverse डजिटल दुनिया में एंटर करेंगे दोस्तों इस टेक्नोलॉजी के seriousness को इस बात से जान सकते हैं कि फेसबुक इतनी बड़ी सोशल मीडिया ब्रांड ने अपना नाम फेसबुक से बदलकर meta रखा हैं।

Metaverse

Metaverse क्या है?

METAVERSE भविष्य की एक ऐसी टेक्नोलॉजी है जिसमें हम रियल वर्ल्ड और वर्चुअल वर्ल्ड को एक साथ connect कर सकते हैं।
दोस्तों जिस तरह से आज हम अपने किसी दोस्त परिवार रिश्तेदार से फोन में बातें करते हैं वीडियो कॉल में बातें करते हैं उसी तरह Metaverse एक ऐसी टेक्नोलॉजी को ला रही है जिसमें आप किसी से बात करने की जगह उसे एक वर्चुअल दुनिया में मिलकर साथ बैठकर बातें कर सकते हैं हाथ मिला सकते हैं गेम खेल सकते हैं आदि चीजें कर सकते हैं।
साथ ही आज के इस युग में हम अपने स्क्रीन पर वीडियो को देखते हैं कई शहर जैसे न्यूयॉर्क, गोवा, पेरिस जैसे शहरों को स्क्रीन मे देखते हैं उसी तरह हम metaverse में उस दुनिया को virtually घूम सकते हैं उसका आनंद ले सकते हैं
Metaverse एक डिजिटल दुनिया है जिसमें आप एक वर्चुअल आईडेंटिटी के साथ डिजिटल दुनिया में इंटर करते हैं।

Metaverse हमारे फिजिकल world, augmented reality और Virtual reality को मिलाकर डिजिटल वर्ल्ड का निर्माण करेंगी जिसमें आप अपने दोस्त परिवार रिश्तेदार से मिल सकेंगे उनसे बातें कर सकेंगे और कहीं भी आप घूम सकते हैं अपनी virtual दुनिया बना सकते है।

Metaverse शब्द की उत्पत्ति

Metaverse का कल्पना सबसे पहले Neal Stephenson को आया था Neal Stephenson ने 1992 अपने नोबेल Snow Crush में इसका जिक्र किया था Metaverse की कल्पना एक राइटर के द्वारा की गई थी ना कि किसी साइंटिस्ट के द्वारा उस समय यह सिर्फ कल्पना थी लेकिन आज के समय में यह हकीकत होने जा रही है।

Metaverse का मतलब क्या है?

Metaverse दो शब्दों से मिलकर बना है पहला Meta और दुसरी Verse यहां meta का मतलब परे (Beyond) है तथा Verse का मतलब Universe (दुनिया) है।इस तरह Metaverse का मतलब इस दुनिया से परे की दुनिया (virtual world)(digital world) है।

Metaverse का भविष्य क्या है?

Metaverse का भविष्य आप इस बात से अनुमान लगा सकते हैं कि दुनिया की सबसे बड़ी सोशल मीडिया मे से एक फेसबुक ने अपने ब्रांड का नाम बदलकर मार्क जुकरबर्ग ने इसे “Meta” रखा है दरअसल मार्क जुकरबर्ग ने Metaverse से प्रेरित होकर ही अपनी कंपनी फेसबुक का नाम meta रखा है Metaverse को इंटरनेट की तरह क्रांतिकारी माना जा रहा है जिस तरह से इंटरनेट ने आज के जमाने में हमारे लाइफ़स्टाइल को इफेक्ट किया है जैसे- social media, ऑनलाइन शॉपिंग बिजनेसेस, ऑनलाइन स्टडी, voice/video calling, zoom meetings आदि को हमारी लाइफ में जोड़ा है Internet बिना हमारे इस युग की कल्पना करना असम्भव है।

जिस तरह से हम इंटरनेट के सहायता से स्क्रीन पर पूरी दुनिया को देख सकते हैं वीडियो कॉल में बातें कर सकते हैं ठीक उसी तरह से Metaverse में हम वर्चुअल  दुनिया में घूम सकते हैं अपने दोस्तों रिश्तेदारों से बातें कर सकते हैं साथ में बैठ सकते हैं।

क्रिप्टो करेंसी और Metaverse में संबंध

Metaverse पूरी तरह से वर्चुअल दुनिया है इसलिए अगर उसमें आपको कोई संपत्ति गाड़ी, घर आदि खरीदना चाहता है तो उसमें आप क्रिप्टो करेंसी का यूज करेंगे क्योंकि क्रिप्टोकरंसी खुद एक वर्चुअल करंसी है इसलिए वर्चुअल दुनिया में वर्चुअल करंसी का ही इस्तेमाल होगी।

Metaverse के फायदे क्या है?

मेटा वर्ष एक क्रांतिकारी कदम है Metaverse से आप दुनिया के एक्सपीरियंस को और अच्छा कर सकते हैं साथ में यदि आप अपनी लाइफ में कुछ करना चाहते हैं और वह संभव नहीं हो पा रही है तो आप इसे Metaverse में सम्भव कर सकते हैं Metaverse से आपस में दूरियां भी घटेगी video call, video chatting का एक्सपीरियंस नेक्स्ट लेवल का होगा रियल वर्ल्ड की दूरी वर्चुअल वर्ल्ड खत्म कर देगी।
सभी टेक्नोलॉजी की तरह Metaverse वक्त के साथ और भी बेहतर होते जाएगी।

क्या Metaverse safe है?

Metaverse शुरुआती दिनों में काफी महंगा होगा जिस तरह से इंटरनेट शुरुआती दिनों में बहुत महंगी हुई करती थी इसका यूज लिमिट होता था बाद में इसकी कीमतें कम हुई और यह ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंची। उसी तरह Metaverse में जिस तरह से डेवलपमेंट होते जाएगा उसी तरह से इसकी कीमतें कम होगी और इसे ज्यादा से ज्यादा लोग जुड़ सकेंगे साथ ही इसमें पर्सनल डाटा, प्राइवेसी को लेकर खतरा हो सकता है और ये नई टेक्नोलॉजी है इसमें साइबर क्राइम की भी संभावना हो सकती है।

Leave a Comment