क्रिप्टो करेंसी और क्रिप्टो टोकन क्या है? यह एक दूसरे से कैसे अलग है?

दोस्तों जिस तरह से क्रिप्टो की लोकप्रियता दिन-ब-दिन बढ़ते जा रहे हैं उसी तरह क्रिप्टो टोकन की लोकप्रियता दिन-ब-दिन बढ़ेगी लोग उससे अपने संपत्ति के तौर रखेंगे। कुछ लोग क्रिप्टोकरंसी और क्रिप्टो टोकन को एक समान मानते हैं लेकिन इनमें कुछ मूलभूत अंतर है हम इस लेख के सहायता से जानेंगे कि क्रिप्टो टोकन और क्रिप्टो करेंसी में क्या अंतर है?

Crypto Token

क्रिप्टो टोकन क्या है? What is Crypto token?

क्रिप्टो टोकन एक वैल्यू, एक डिजिटल ऐसेट्स यानि संपत्ति है और इससे क्रिप्टो करेंसी कि तरह एक्सचेंज किया जा सकता है मगर क्रिप्टो करेंसी को एक्सचेंज करने के लिए उसका एक खुद का ब्लॉकचेन होता है जिससे आप क्रिप्टो कॉइन को खरीद और बेच सकते हैं ट्रेड कर सकते हैं जैसे बिटकॉइन का एक ब्लॉकचेन है मगर क्रिप्टो टोकन का कोई अपना ब्लॉकचेन नहीं होता है उसे पहले से मौजूद किसी ब्लॉकचेन पर रन किया जाता है।

क्रिप्टो टोकन और क्रिप्टोकरंसी में क्या अंतर है?

क्रिप्टो कॉइन और क्रिप्टो टोकन में मूलभूत को समझने के लिए आप इस उदाहरण से समझ सकते हैं कि एथेरियम ब्लॉकचेन टेक्निक है और इथर (ETH) इसका नेटिव टोकन है। साथ ही एथेरियम ब्लाकचैन पर कई और क्रिप्टो टोकन जैसे- DIA , LINK, COMP, NEO, QTUM आदि को रन किया जाता है। इनमे से आप किसी भी टोकन को भेजेंगे तो इथेरियम का ही उपयोग करना पडेगा।
क्रिप्टो टोकन भी एक प्रकार का ऐसैट्स है जिससे फिजिकल रूप में भी इस्तेमाल सर्विस के लिए प्रोडक्ट के लिए किया जा सकता है कुछ क्रिप्टो टोकन रियल स्टेट तथा आर्ट को प्रस्तुत करती है।

क्रिप्टो करेंसी क्या है? और इसका इस्तेमाल कैसे होती है?

क्रिप्टो करेंसी का इस्तेमाल ट्रांजैक्शन फीस देने में या फिर नेटवर्क को सेफ रखने के लिए यूजरों को इंसेंटिव देने मे तथा इसका इस्तेमाल प्रोडक्ट खरीदने में सर्विस के बदले में तथा इसको डॉलर और रुपए में एक्सचेंज करा सकते हैं क्रिप्टोकरंसी को स्टोर किया जाता है जिससे इसका इस्तेमाल बाद में कर सकते हैं
क्रिप्टो करेंसी की सबसे खास बात यह है कि वह डिसेंट्रलाइज है उसे किसी एक संस्था या अथॉरिटी के द्वारा नहीं चलाया जाता है।
 वो ब्लॉकचेन पर काम करती हैं और हर ट्रांजैक्शन का हिसाब पब्लिक लेजर पर होता है इन नेटवर्क और पूरे क्रिप्टो स्ट्रक्चर को सुरक्षित रखने के लिए ये एक एन्क्रिप्शन टेक्नीक- का इस्तेमाल करती हैं इस तरह से नियमों को निष्पक्ष रूप से लागू करने में मदद मिलती है। इसी वजह से क्रिप्टो को इतनी लोकप्रियता मिली है।

क्रिप्टो टोकन से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियां


क्रिप्टो टोकन को एक ‘स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट’ कहा जा सकता है ये ‘कॉन्ट्रैक्ट’ किसी भी डिजिटल या फिजिकल असेट को प्रस्तुत कर सकते हैं।क्रिप्टो टोकन्स के कुछ खास बातो का ध्यान रखना चाहिए इसका एक ब्लॉकचेन एड्रेस होता है किसी के पास उस एड्रेस का private key होगा, वो ही उसे एक्सेस कर पाएगा और उसे उस टोकन का मालिक या कस्टोडियन कहेंगे।क्रिप्टो टोकन क्रिप्टो करेंसी का प्रतिनिधित्व है जिससे क्रिप्टोकरंसी IPO (Initial public offering) के रुप मे बनाते है जिससे क्रिप्टो करेंसी कम्पनिया के कुछ शेयर बेच कर पैसे जुटाते है।

Leave a Comment